अब स्कूली बच्चे करेंगे "तीर-कमान" से नक्सलियों का सामना ?

By: MD IMRAN
12/11/2018

रांची: स्वच्छ भारत अभियान के बाद अब सर्व शिक्षा अभियान की राह अब थोड़े चुनौतीपूर्ण होते दिखाई दे रही है । और इसका सबसे बड़ा उदाहरण झारखंड के चकुलिया स्थित एक गांव के बच्चों ने दिया है । दरअसल नक्सलियों ने प्रदेश में आतंक मचा रखा है और बच्चो की पढ़ाई में रोड़े पैदा कर दिए हैं। नक्सलियों के आतंक की वजह से स्कूली बच्चे स्कूल जाते समय अपनी सुरक्षा के लिए तीर-कमान लेकर जाते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है, "बच्चे जंगल के क्षेत्र से गुजरते हैं, जहां पर उन्होंने कई बार बड़ी संख्या में नक्सलियों को देखा है।"


चकुलिया स्थित एक गांव के लोगों में नक्सलियों की दहशत कुछ इस तरह से पसरी हुई है कि स्कूली बच्चे भी अपनी सुरक्षा के लिए तीर-कमान साथ ले जाते हैं। लोगों का कहना है कि बच्चे जंगल के रास्ते स्कूल जाते हैं। बच्चों ने कई बार बड़ी संख्या में नक्सलियों को जंगल में देखा है। जिससे आम जनताओं में दहशत बना हुआ है।


आपको बता दें कि पिछले महीने ही झारखंड के गिरिडीह जिले में मंगलवार को नक्सलियों ने रेल की पटरी को विस्फोट कर उड़ा दिया था। इससे ग्रैंड चॉर्ड धनबाद डिवीजन पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुई। बता दें कि पाकुड़ जिले के एसपी अमरजीत बलिहार और उनके पांच अंगरक्षकों की हत्या के आरोप में दो नक्सलियों इसी साल 26 सितंबर को फांसी की सजा सुनाई गई थी। इसके विरोध में नक्सलियों ने रेल की पटरी उड़ाई थी।


Create Account



Log In Your Account