सावधान ! अगर आपको दिल्ली NCR में पर्सनल लोंन या होम लोन या फिर बिज़नेस लोन लेना हो तो सतर्क रहे , अन्यथा वो......करा देंगे आपका बैंक एकाउंट खली ?

By: MD IMRAN
11/01/2021

दिल्ली : दिल्ली NCR जेसे महानगरों में रहना सभी लोगों की  इच्छा होती है । कई लोग यहाँ आकार थक-हार कर वापस अपनी जन्मभूमि लौट जाते है, तो कई यहाँ के वातावरण को अपनी जिन्दागी बना लेते है । जो यहाँ रुक जाते हैं उनकी पहली इच्छा होती है अपना प्यारा सा एक घर हो, एक शानदार सी गाड़ी हो फिर बैंक में कुछ पैसे हो । इतनी ख़ुशी पाने के लिए दिन-रात मेहनत करते है । लेकिन बीस से तीस लाख रुपए बचत करना वो भी कम समय में मानो बंजर पहाड़ में रास्ता बनाना जेसा हो । लेकिन दिल्ली वाले कभी हताश नही होते क्यूंकि उनके पास काफी सारे विकल्प होते है । अगर आप अच्छी सैलरी उठाते है तो बैंक आपको पर्सनल लोन के लिए ऑफर करता है । जिस पैसे से आप अपनी ज़रुरियात और ख्वाब पूरा कर सकते है । और बैंक हर महीने EMI के रूप में आपकी सैलरी से कुछ पेसे वापस लेते रहते है । जिससे आप अपना सापना पूरा भी कर लेते हैं और आपको ज्यादा फर्क भी नहीं पड़ता है ।


लेकिन क्या आपको पता है इन सब के बीच यहाँ काला-बाजारी भी धड़ल्ले से चलती है और आप जिस मुसीबत से छुटकारा पाना चाहते है उससे बड़ी आपके पीछे पड़ जाती है । इससे जुडी एक घटना है पूर्व दिल्ली की जहाँ एक आदमी (नाम न बताने के शर्त पर ) ने पर्सनल लोन के लिए एक ऑनलाइन सर्च इंजन से बैंक और फाइनेंसर्स का नंबर लिया। फिर कुछ ही पलों में इनके मोबाइल पर कॉल्स आने शुरू हो गए। लेकिन कुच्छ दिनों में इन्हें पता चला कि इनको कोई बैंक लोन नहीं दे सकता क्यूंकि इनका सिविल स्कोर माइनस में था। (आपको बता दूँ कि अगर आपको कोई भी लोन चाहिए तो बैंक पहले आपका सिविल स्कोर देखता है और सिविल स्कोर बनता है आपके द्वारा लिए गए कोई भी घरेलु सामान जेसे इलेक्ट्रॉनिक सामान , लैपटॉप , फ़ोन , इत्यादी किसी बैंक या फाइनेंसर्स से किश्तों पर या फिर आपके पास किसी भी बैंक का क्रेडिट कार्ड हो जिसका लेन-देन किया गया हो । अगर आपके पास इनमें से कुछ भी नहीं है तो आपके क्रेडिट स्कोर माइनस में होते है )।

आगे इन्होंने बताया मैं निराश होकर बेठा था तभी एक कॉल आया ...लोन फाइनेंस से और उसने बोला मै आपको आपके खाते में सिर्फ तीन दिनों में पैसे ट्रान्सफर करवा दूंगा ये मेरी गेरेंटी है । उनकी बातों में मुझे अपनापन दिखा फिर मेने उनको सारे डाक्यूमेंट्स उनके पर्सनल मेल पर भेज दिए । उसने कहा अगर कॉल आए तो बताना डाक्यूमेंट्स हार्ड कॉपी दिया था । फिर उसने मुझसे बोला आपको इसके लिए पांच सौ के दो स्टाम्प पेपर और लगभग 36 पेज की फ़ाइल् पर दस्तखत  करना होगा । मुझे रुपए की सख्त ज़रुरत थी तो मेने हाँ बोल दिया । फिर उसने मुझसे एक हज़ार रूपये मांगा ताकि वह स्टाम्प पेपर खरीद सके । मेरे पास पेसे नहीं थे मगर वह मानने को तैयार नहीं था । फिर मेने दूर में रह रहे दोस्त को कॉल किया और उनसे पेसे उधार लेकर इनके खाते में ट्रान्सफर किया ।

दुसरे दिन उसने एक आदमी को वेरिफिकेशन के लिए मेरे ऑफिस भेजा । उस आदमी से में मिला उन्होंने मुझसे सारी जानकारी फिर से पूछी और कहने लगा ठीक है आपके अकाउंट में दो दिनों में पेसे आ जायेंगे ।  और वह मुझसे पेसे मांगते हुए कहने लगा आपके पास आना तो मेरी ड्यूटी है लेकिन आपका मेने इंतेज़ार किया फिर मुझे आपको वेरिफाई भी कना है तो कमसे कम एक हजार रुपए तो बनता है । मैं उनसे किसी तरह छुटकारा पाया । अगली सुबह मुझे फिर से एक कॉल आया दूसरी तरफ एक अधेड आदमी था । उसने मुझे बड़े प्यार से विश किया और बधाईयाँ देने लगा और कहने लगा आपका लोन पास हो गया । मेरे ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा । लेकिन अगले ही क्षण उसने मुझे परेशानी में डाल दिया । वह कहने लगा आपको लोन के लिए लगभग छः हज़ार रूपये देने होंगे क्यूंकि पहले आपको इसका इंश्योरंस करवाना होगा । मेने समझा कि ये सारे टर्म तो लीगल यूज़ कर रहे है लेकिन मेरे पास पेसे नहीं थे । इसलिए मेने उनको कहा आप इतने रूपये मेरे फाइनेंस किये रूपये में से ले लेना । लेकिन उन्होंने माना कर दिया । अब में जब भी कॉल करता हूँ दोनों में से कोई भी मेरा फ़ोन नहीं उठाता ।  मेने फ्रौड का केस नहीं किया क्यूंकि में इन सब में उलझना नहीं चाहता था । बात थोड़े से पेसे कि नहीं है बात है बिश्वास और समय कि, जो उन्होंने दोनों का नुकसान किया । मेरे पास उनके खिलाफ इतने सबूत है कि मै उसके खिलाफ अदालत जा सकता हूँ । फिर में सोचता हूँ वह अकेले धोखाधडी में नहीं उनके जेसे सेकड़ो शहर में सक्रिय है ।

ये थे एक पीड़ित जिन्होंने हमारे साथ अपनी दुःख भरी दास्ताँ सुनाया यह पहली या आखरी घटना नहीं है । इस तरह कि घटनाएँ अक्सर यहाँ होती रहती है । कोई अपने को लुटवा देते है तो कोई इस फ्रॉड का शिकार होकर आत्महत्या कर लेते है । अगर रिपोर्ट कि मने तो लोन के लिए हर चौथा कॉल्स फ्रॉड कॉल होता है ? वह सारी बातें ठीक उसी तरह बोलते है जेसे एक बैंकर्स अपने ग्राहक से बातें करते है । वह आपसे कोई भी इनफार्मेशन बड़े प्यार से मांग सकते है और आप भी पहली बार में माना नहीं कर सकते । क्यूंकि वह कुछ ही छणों में आपके करीब आ जाते है ।

इसलिए सावधान!!!!! रहे और दुसरे को भी सावधान रहने को कहैं । गलती से भी किसी ऐसे लोभ भरे ईमेल या कॉल पर ध्यान न दें । अपना बैंकिंग इनफार्मेशन किसी से साझा न करें । नहीं तो आपकी पूरी जिंदगी कि कमाई एक लम्हें में आपसे छीन जाएँगी । कोई भी बैंकर्स आपसे गलती से भी आपका ATM कार्ड पासवर्ड नही मांगता है । कोई भी बैंक आपसे लोन के लिए प्रोसेसिंग फी नहीं मांगता है । कोई भी बैंक पता वेरिफिकेशन के लिए चार्ज नहीं करता है । इसलिए गलती से भी किसी को पेसे न दें । क्यूंकि वह रुपए उसका मनोबल बढ़ाते है और दूसरों से खुलकर पेसे मांगते है। अगर एसा हुआ तो आप भी करप्शन को बढ़ावा देने वालों में शामिल हो जायेंगे । याद रहे धोखा-धडी से बचें , करप्शन से बचें और ऐसे लोगों को रुपए न दें और न ही किसी से इस तरह के रुपए लें । क्यूंकि ये दोंनो में ही भारतीय IPC 171E और अन्य धाराओं के तहत कम से कम एक साल कि सजा या फाइन या फिर दोनों हो सकता है । अब जरा सोचिये अपने को  लूटा भी दें और साथ में सजा भी पायें । इसलिए याद रहे ............................. 

Create Account



Log In Your Account